टेस्ट मैचों में गुलाबी गेंद के प्रयोग से सबसे लंबे प्रारूप की पवित्रता खत्म हो जाएगी : मिस्बाह

पाकिस्तान के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक ने कहा है कि वह टेस्ट मैचों में गुलाबी गेंद के प्रयोग के पक्ष में नहीं हैं क्योंकि यह सबसे लंबे प्रारूप की पवित्रता को खत्म कर देगा. मिस्बाह ने यह भी कहा कि ज्यादातर लोग लाल गेंद से पारंपरिक रूप से खेले जाने वाले टेस्ट क्रिकेट को देखना पसंद […]

टेस्ट मैचों में गुलाबी गेंद के प्रयोग से सबसे लंबे प्रारूप की पवित्रता खत्म हो जाएगी : मिस्बाह
veegamteam

| Edited By:

Aug 19, 2020 | 1:37 PM

पाकिस्तान के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक ने कहा है कि वह टेस्ट मैचों में गुलाबी गेंद के प्रयोग के पक्ष में नहीं हैं क्योंकि यह सबसे लंबे प्रारूप की पवित्रता को खत्म कर देगा. मिस्बाह ने यह भी कहा कि ज्यादातर लोग लाल गेंद से पारंपरिक रूप से खेले जाने वाले टेस्ट क्रिकेट को देखना पसंद करते हैं.

शेन वार्न सहित विभिन्न पूर्व क्रिकेटरों ने खराब रोशनी की स्थिति से निपटने के लिए सभी टेस्ट क्रिकेट में गुलाबी गेंद का उपयोग करने की सलाह दी है,जिसके बाद मिस्बाह की यह टिप्पणी आई है. आम तौर पर, एक गुलाबी गेंद का उपयोग केवल दिन-रात के टेस्ट मैच में किया जाता है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की आधिकारिक वेबसाइट के लिए लिखे ब्लॉग में मिस्बाह-उल-हक ने कहा,” जिस तरह से खराब रोशनी ने इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच खेले गए दूसरे टेस्ट मैच को प्रभावित किया है, उसके बारे में बहुत चर्चा हुई है. इन असामान्य परिस्थितियों में, इन मुद्दों पर बहस करने के लिए जगह है लेकिन गुलाबी गेंद लाल गेंद से बहुत अलग है. दिन के उजाले में इस गेंद के उपयोग का विचार तर्क संगत नहीं है.”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि ज्यादातर लोग टेस्ट क्रिकेट को पारंपरिक तरीके से खेलते देखना पसंद करते हैं, जिसका मतलब लाल गेंद से होता है – यही खेल की खूबसूरती है.”

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच दूसरे टेस्ट मैच में केवल 134.3 ओवर फेंके गए थे, जिनमें से 38.1 ओवर अंतिम दिन फेंके गए थे. दूसरे टेस्ट में खराब रोशनी और बारिश के संयोजन से बाधा उत्पन्न हुई. पाकिस्तान ने पहली पारी में 236 रन बनाए थे, और इंग्लैंड को केवल मैच के अंतिम दिन बल्लेबाजी करने का मौका मिला. मैच ड्रॉ समाप्त होने से पहले इंग्लैंड ने 4 विकेट पर 110 रन बना लिए थे.

उन्होंने कहा, “मैच के समय में, प्रशंसकों के समर्थन से हमें बहुत फर्क पड़ता है. जिस तरह से हमारे खिलाड़ियों ने इंग्लैंड के खिलाफ संघर्ष किया है, उसे देखकर मुझे काफी खुशी है. हमें हमेशा समर्थन की आवश्यकता है चाहे हम जीतें, हारें या ड्रा करें. विशेष रूप से इन परिस्थितियों में, जब स्टेडियम में कोई नहीं होता है. सोशल मीडिया पर सहायक टिप्पणियां वास्तव में एक व्यक्तिगत खिलाड़ी और टीम को ऊपर उठा सकती हैं.”

उन्होंने कहा, “हमें विश्वास है कि हम अंतिम टेस्ट में हम वापसी कर सकते हैं और यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि हमारे समर्थकों ने घर और दुनिया भर में हमारे ऊपर विश्वास जताया है और हमें उनके विश्वास पर खरा उतरना है.”

इंग्लैंड ने पहला टेस्ट तीन विकेट से जीतने के बाद तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला में 1-0 की बढ़त हासिल की है. दोनों टीमों के बीच तीसरा और आखिरी टेस्ट साउथैम्पटन में 21 अगस्त से खेला जाएगा.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील

Follow us on

Related Stories

Most Read Stories

Click on your DTH Provider to Add TV9 Bangla