धोनी को मैदान से संन्यास की घोषणा करनी चाहिए थी : इंजमाम

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक का मानना ​​है कि विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी को मैदान से संन्यास की घोषणा करनी चाहिए थी.इंजमाम की यह टिप्पणी तब आई जब धोनी ने अपने 16 साल के लंबे करियर पर विराम लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की. इंजमाम ने अपने यूट्यूब चैनल […]

धोनी को मैदान से संन्यास की घोषणा करनी चाहिए थी : इंजमाम
veegamteam

| Edited By:

Aug 17, 2020 | 5:55 PM

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक का मानना ​​है कि विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी को मैदान से संन्यास की घोषणा करनी चाहिए थी.इंजमाम की यह टिप्पणी तब आई जब धोनी ने अपने 16 साल के लंबे करियर पर विराम लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की.

इंजमाम ने अपने यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा,”धोनी के दुनिया भर में लाखों प्रशंसक हैं, जो उन्हें मैदान पर खेलते देखना चाहते हैं.मेरी राय में, इस तरह के कद के खिलाड़ी को घर बैठे ही रिटायरमेंट नहीं लेना चाहिए था.उन्हें मैदान से रिटायरमेंट की घोषणा करनी चाहिए थी.”

इंजमाम ने कहा, “मैंने एक बार सचिन तेंदुलकर को बताया था कि जब आपके पास प्रशंसकों का इतना बड़ा समूह होता है, तो आपको आदर्श रूप से अपनी यात्रा को मैदान से ही समाप्त करना चाहिए, आखिरकार, यह वह मैदान है जहां आपने ऐसा सम्मान और स्टारडम अर्जित किया है.”

उन्होंने कहा, “मेरी राय में, धोनी को भी ऐसा करना चाहिए था, तब उनके प्रशंसकों को भी खुशी हुई होती, जिनमें मैं भी शामिल था, क्योंकि मैं उन्हें सर्वश्रेष्ठ भारतीय कप्तान मानता हूं.”

इंजमाम ने धोनी को सर्वश्रेष्ठ भारतीय कप्तान भी कहा और सुरेश रैना और रविचंद्रन अश्विन जैसे मैच विजेता खिलाड़ियों को विकसित करने का श्रेय दिया.

इंजमाम ने कहा,” धोनी इतने चतुर क्रिकेटर हैं कि वह जानते थे कि खिलाड़ियों का निर्माण कैसे किया जाता है.सुरेश रैना और आर अश्विन दो सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं, जिन्हें धोनी ने बनाया.खेल के बारे में उनकी समझ का स्तर इतना अच्छा था कि वे खिलाड़ियों को चुनते थे और फिर उन्हें महान खिलाड़ियों में बदल देते थे.”

उन्होंने कहा,”धोनी वह खिलाड़ी हैं जो मैच खत्म करना जानता थे.वह उस तरह के खिलाड़ी नहीं हैं जो हर मैच में शतक बनाएंगे, लेकिन उन्होंने अपनी पारी इस तरह से बनाई कि टीम जीत की तरफ बढ़े.”

धोनी की कप्तानी में भारत ने दक्षिण अफ्रीका में वर्ष 2007 में आयोजित टी20 विश्व कप के पहले संस्करण का खिताब जीता था.इसके बाद धोनी के नेतृत्व में भारत ने 2011 में एकदिनी विश्व कप का खिताब भी अपने नाम किया.वहीं, वर्ष 2013 में भारत धोनी की कप्तानी में इंग्लैंड में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का भी खिताब जीता.इसी के साथ धोनी तीनों आईसीसी खिताब जीतने वाले पहले कप्तान बने.

विकेट के पीछे सबसे तेज, धोनी के पास 195 अंतरराष्ट्रीय स्टंपिंग हैं, जो किसी भी विकेट कीपर द्वारा सबसे अधिक स्टम्पिंग है.धोनी ने 350 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिसमें श्रीलंका के खिलाफ 183 रन उनका सर्वोच्च स्कोर है.दिसंबर 2014 में, धोनी ने टेस्ट से संन्यास की घोषणा की और रिद्धिमान साहा को आगे आने का मौका दिया.धोनी ने अपने टेस्ट करियर में 90 टेस्ट खेले हैं और 38.09 के औसत से 4,876 रन बनाए हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील

Follow us on

Related Stories

Most Read Stories

Click on your DTH Provider to Add TV9 Bangla