चीन के साथ अगर बातचीत फेल हुई तो सैन्य विकल्प मौजूद-बिपिन रावत

नई दिल्ली. भारत लगातार चीन के साथ अपने रिश्ते सुधारने की कोशिशों में लगा हुआ है, लेकिन चीन अपनी संप्रभुत्ता से समझौता करने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है. चीन सीमा विवाद पर भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा अगर चीन से बातचीत नाकाम होती है तो उनसे निपटने […]

चीन के साथ अगर बातचीत फेल हुई तो सैन्य विकल्प मौजूद-बिपिन रावत
Follow Us:
| Edited By: | Updated on: Aug 27, 2020 | 9:00 AM

नई दिल्ली. भारत लगातार चीन के साथ अपने रिश्ते सुधारने की कोशिशों में लगा हुआ है, लेकिन चीन अपनी संप्रभुत्ता से समझौता करने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है. चीन सीमा विवाद पर भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा अगर चीन से बातचीत नाकाम होती है तो उनसे निपटने के लिए सैन्य विकल्प भी तैयार है. विपिन रावत ने कहा कूटनीतिक स्तर पर बातचीत चल रही है. दोनों देशों की सेनाएं भी शांतिपूर्ण तरीके से मसले को हल करने में जुटीं हुई हैं.

रावत ने कहा कि लद्दाख में चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के गतिरोध से निपटने के लिए सैन्य विकल्प तैयार हैं लेकिन इसका इस्तेमाल तभी किया जाएगा जब दोनों सेनाओं के बीच बातचीत और राजनयिक विकल्प से कोई हल नहीं निकलेगा. उन्होंने कहा कि रक्षा सेवाएं हमेशा सैन्य कार्यों के लिए तैयार रहती हैं. फिर वो चाहें एलएसी के साथ यथास्थिति को बहाल करने की सभी कोशिशें का सफल न होना ही शामिल क्यों ने हो. उन्होंने कहा कि भारत के हिंद महासागर क्षेत्र के साथ-साथ उत्तरी और पश्चिमी सीमाओं पर एक विशाल फ्रंट-लाइन है, जिसकी सभी को लगातार निगरानी की जरुरत है.

उन्होंने कहा, ‘रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जिम्मेदार सभी लोग इस उद्देश्य के साथ सभी विकल्पों की समीक्षा कर रहे हैं कि पीएलए लद्दाख में यथास्थिति बहाल करना चाहता है. 2017 में जब भारत और चीन के बीच 73 दिनों का गतिरोध हुआ था उस समय सीडीएस रावत सेनाध्यक्ष का पदभार संभाल रहे थे. उन्होंने इस धारणा को दूर किया कि प्रमुख खुफिया एजेंसियों के बीच समन्वय की कमी है. शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एनएसए और तीन सेना प्रमुखों के साथ लद्दाख में एलएसी पर चीन के साथ जारी गतिरोध पर चर्चा की.

गौरतलब हो कि एलएसी पर विवाद सुलझाने के लिए भारत और चीन के बीच कई बार सैन्य वार्ता हो चुकी है. इसमें लेफ्टिनेंट-जनरल स्तर की वार्ता शामिल है. राजनयिक स्तर पर भी बातचीत जारी है. संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी चीन से बात कर रहे है. दोनों पक्षों के बीच सीमा पर तनाव को कम करने पर बात किया जा रहा है. दोनों सेनाओं के बीच एक कूटनीतिक बातचीत भी शुरू होती है तो फिर खत्म हो जाती है लेकिन ऐसा देखा जा रहा है कि पीएलए अब अपने पैर पीछे की तरफ रही है क्योंकि ये अब एक घरेलू राजनीति का मुद्दा बन गया है.

স্ত্রী সোনালী চৌধুরীকে নিয়ে এ কী বললেন স্বামী রজত ঘোষ দস্তিদার!
স্ত্রী সোনালী চৌধুরীকে নিয়ে এ কী বললেন স্বামী রজত ঘোষ দস্তিদার!
আবার কিম-জং-উন আরেকটা যুদ্ধের ঘোষণা প্রায় করেই দিলেন
আবার কিম-জং-উন আরেকটা যুদ্ধের ঘোষণা প্রায় করেই দিলেন
বিশ্ব ফুটবলের 'পাওয়ার হাউস' জার্মানির থেকে কী কী গ্রহণ করতে পারে ভারত
বিশ্ব ফুটবলের 'পাওয়ার হাউস' জার্মানির থেকে কী কী গ্রহণ করতে পারে ভারত
মাথা হিজাবে মুড়ে ছবি দিয়ে দিতিপ্রিয়া, উঠল কটাক্ষের ঝড়
মাথা হিজাবে মুড়ে ছবি দিয়ে দিতিপ্রিয়া, উঠল কটাক্ষের ঝড়
ভালবাসা থাকলেই, ভালবাসায় ভরিয়ে দেবেন দেবচন্দ্রিমা, পাত্র খুঁজছেন?
ভালবাসা থাকলেই, ভালবাসায় ভরিয়ে দেবেন দেবচন্দ্রিমা, পাত্র খুঁজছেন?
১৯৫২ থেকে ২০২৪, গণতন্ত্রের নানা চড়াই-উতরাই, নির্বাচনের নানা অজানা গল্প
১৯৫২ থেকে ২০২৪, গণতন্ত্রের নানা চড়াই-উতরাই, নির্বাচনের নানা অজানা গল্প
বিরাটের হেয়ার স্টাইলিস্ট ফাঁস করলেন অজানা তথ্য, কত টাকা লাগল?
বিরাটের হেয়ার স্টাইলিস্ট ফাঁস করলেন অজানা তথ্য, কত টাকা লাগল?
এক অ্যাকাউন্টেই জমা থাকবে নতুন সব বিমা
এক অ্যাকাউন্টেই জমা থাকবে নতুন সব বিমা
ট্রোলের মুখে জবাব দিলেন 'বান্ধবী বদলানো' শোভন
ট্রোলের মুখে জবাব দিলেন 'বান্ধবী বদলানো' শোভন
শহরের নাইটক্লাবে লাস্যময়ী শ্রাবন্তী, চলল রাতভর নাচ
শহরের নাইটক্লাবে লাস্যময়ী শ্রাবন্তী, চলল রাতভর নাচ